महाकाल

Photo by at infinity on Unsplash

ॐ, शिव, शम्भू, महाकाल….

ज्योर्तिलिंग में जो करते वाश,
गौरा भी है… उनके साथ।

शक्ति है जिनका आधार,
हर पल करते दुष्टों का संगहार।

हिमालय है… उनका धाम,
जग जग गूंजे उनका नाम।

भस्म, धतूरे का जो करते पान,
समय चक्र भी उनके पास।

जो उठाए श्रष्टि… का भार,
नाग देव है… उनका हार।

हर पल जपते उनका नाम,
देवों के देव वो है… महाकाल।

शेयर करें
About वाणी गुप्ता 5 Articles
वाणी गुप्ता, उरई, उत्तर प्रदेश शिक्षा - ड्राइंग एंड पेंटिंग (इंदौर), बैच 2018 रुचि - ड्रॉइंग, पेंटिंग, क्राफ्ट, कविता लेखन। वर्तमान कार्य - प्राइवेट ड्रॉइंग अध्यापिका
0 0 votes
लेख की रेटिंग
guest
0 टिप्पणियां
Inline Feedbacks
View all comments