मैं गांधारी नहीं

mahabharat

मैं रचनाकार हूँ
मैं इस काल की
वह उत्पत्ति , फसादी , घुसपैठ
तत्व हूँ
जो देखती हूँ
वहीं लिखने की ताकत रखती हूँ

मैं श्वेत रूई की पौनी हूँ
जल-जल उजियारा देती हूँ
सड़क किनारे लालटेन की
चिंगारी हूँ
कहीं मंदिर का दीपक हूँ
अंधियारे वन में
अलाव की तपन हूँ

मैं निर्झर , निर्मल , निरंतर
बहता जलप्रपात का जल हूँ
उदधि के अंतर की तूफानी लहर हूँ
‘सागरमाथे’ के शिखरों की कथा
‘प्लूम ‘ का रसास्वादन
करने वाला भ्रमर हूँ

मैं अंधकूप की
मशाल हूँ
इस अंधयुग की
ब्याहता हूँ
पर

मैं गांधारी नहीं

जो अपने
प्रियवर का अंधत्व
स्वीकार लूँ
न्याय से मुख मोड़ लूँ
मैं वो नहीं ।।

मेरे पूर्वज राजनीतिज्ञ नहीं थे
उन्होंने तुच्छ विचारों की
मरू खेती नहीं की
उनके हाथों में पासे नहीं थे,
इसलिए
मेरी कलम ने चाटुकारिता
नहीं सीखी

मैं सत्य लिखने की
ताकत रखती हूँ

मैं अग्नि हूँ ज्वाला हूँ
जेठ माह की तपन हूँ
रूह तक कंपकपा देने वाली
शीतल पवन का झोंका हूँ
रंगमंच मैं , पर्वत-प्रदेश मैं
सागर का गहरा तल हूँ
ओस बूंद मैं
मौन पाटल का स्वर हूँ

मैं तटिनी का कलकल
बहता जल हूँ
मैं देख सकती हूँ
अन्याय , अत्याचार
अनाचार , दुराचार

मैं भीष्म नहीं
नाहिं मैं द्रोणाचार्य हूँ
जो भरी सभा में
मौन थे तब जब
कापुरुष ने
पांचाली के स्त्रीत्व को
आहत कर कलंकित किया था
भारत भूमि के मान को

मैं वर्तमान का ‘युयुत्सु ‘ हूँ
मैं द्वंद करना चाहती हूँ
दुःशासनों से
जो आज भी कलंकित कर रहे
स्त्रीत्व ‘ को

मैं उनकी छाती के
रक्त से अपने
केशों को धोना चाहती हूँ
मिटाना चाहती हूँ
व्यभिचार को
हराना चाहती हूँ
अत्याचारियों को

कलम मेरा अस्त्र है
अनुभूति और अभिव्यक्ति
मेरी शाश्वत शक्ति है
मेरा अपना समीकरण
मेरी अपनी फंतासी है

खगोल मैं , भूगोल मैं
मैं इतिहास , अर्थशास्त्र
मेरे भी दसशीश है
पर मैं रावण नहीं
क्योंकि मैं तो हर
रावण से स्त्रीत्व का
परित्राण करना चाहती हूँ

मैं अपनी कल्पनाओं को
साकार करना चाहती हूँ

सुनो ! बंधु मैंने मनुष्य के
दिवा स्वप्नों के शवों को
माटी में मिलते देखा हैं

मैं लेखनी हूँ इक्कीसवीं
सदी की
वृत्त मैं , त्रिभूज मैं
मैं ही गोलाकार हूँ

हाँ मैं रचनाकार हूँ

Photo by wikipedia common

शेयर करें
About डॉ आरती वर्मा 'मुक्ति' 3 Articles
डॉ. आरती वर्मा 'मुक्ति' एम.ए, पीएच डी. , हिंदी शिक्षिका उपलब्धि - बेस्ट टीचर अवार्ड १९ जनवरी २०१९ रचनाएँ - मैं गांधारी नहीं, अनकहे से प्रश्न
0 0 votes
लेख की रेटिंग
guest
0 टिप्पणियां
Inline Feedbacks
View all comments