चीन को ललकार

चीन को ललकार
Photo by Maninderjeet Singh Sidhu on Unsplash

लद्दाख की गलबान घाटी में बस गूंजे एक ही नारा।
चीन तुझे ललकार रहा है यह भारत देश हमारा।
देश पर जीना देश पर मरना यही है धर्म हमारा।
देश को अब भय मुक्त बनाए यही देखा सपना हमारा।
अब जागो देश की युवा पीढ़ी देश ने तुम्हें पुकारा।
चीन से दो – दो हाथ करने का मौका न मिलेगा दोबारा।
चीनी आक्रांताओं से आज घायल हुआ हिमालय प्यारा।
हॉट स्प्रिंग्स, घाघरा, गलबान पर ना करना वार दोबारा।
गंगा की निर्मल लहरों में भी गूंजे सतत यह नारा।
तूफ़ानों सी आग लगा जलाओ चीनी सामान अब सारा।
चीन के व्यूह चक्र के सस्ते जाल में ना फंसेगा देश दोबारा।
भरो हुंकार वीर सपूतों, बचाओ बचाओ देश प्यारा।
आज दुश्मनों की होली का करो प्रण पूरा तुम्हारा।
बन देश के सच्चे प्रहरी चहुं ओर लहराओ तिरंगा प्यारा।

Photo by Maninderjeet Singh Sidhu on Unsplash

शेयर करें
About डॉ. रेखा मंडलोई ' गंगा ' 6 Articles
डॉ. रेखा मंडलोई इंदौर
0 0 votes
लेख की रेटिंग
guest
1 टिप्पणी
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Kavita pagare
Kavita pagare
9 months ago

बहुत बढिय़ा