राम राज ( हाइकु )

Image by Nikhil Mishra from Pixabay

‘हाइकु’ लेखन की एक जापानी विधा है। जो तीन पंक्तियों की होती है, इसमें पहली पंक्ति में पाँच अक्षर,दूसरी पंक्ति में सात अक्षर एवं तीसरी पंक्ति में पुनः पाँच अक्षरआते हैं।

नजर तीर,
सम्हलो चालबाजों।
छुपोगे कैसे।

सच्चा चरित्र,
लगाओगे लांछन।
फस जाओगे।

देश का हित,
स्वहित कभी नही।
सच्चे की जीत।

अरसे बाद,
प्रभु का आशीर्वाद।
है राम राज।

शेयर करें
About सुभाष शर्मा 8 Articles
सुभाष शर्मा, इन्दौर (म.प्र.) बैंक आफ बड़ौदा से सेवा निवृत ,वर्तमान में बिल्डर एवं प्रापर्टी ब्रोकर। कविता एवं कहानी लेखन में रूचि ।
2 1 vote
लेख की रेटिंग
guest
0 टिप्पणियां
Inline Feedbacks
View all comments