सर्दियों में कैसे सजाएँ अपना घर

सर्दियों में कैसे सजाएँ अपना घर

28 दिसम्बर, 2020 अनुषा गावशिन्दे 1

कुछ ऐसे छोटे छोटे सुझाव जो सर्दियों के मौसम में आपके घर को देंगे एक सुंदर, आरामदायक और गर्माहट भरा रूप और साथ ही साथ आपका घर लगेगा त्योहारों और मेहमानों के स्वागत के लिए बिल्कुल तैयार

मैं नारी

25 दिसम्बर, 2020 राजश्री सिकरवार 0

मैं नारी…… मै नारी नदी सी मेरे दो किनारे।एक किनारे ससुराल, दूजी ओर मायकादोनों मेरे अपने फिर भी अलग दोनों का जायका। एक तरफ मां […]

विधाता की लीला अपरंपार

विधाता

25 दिसम्बर, 2020 सरिता अजय साकल्ले 0

विधाता की लीला अपरंपार है कहीं खुशियांतो कई गम हजार हैं कहीं सूर्य की रोशनी तो कई घोरअंधकार है कहीं जन सैलाब का मेला तो […]

मोरे कान्हा

हे मुरलीधर मोरे कान्हामैं नित तोरा ध्यान धरुंहर दिन तोहरी राह निहारुंअब पधारो मोरे द्वार प्रभु ना करती मैं कोई शिकायतना कुछ तुझसे मांगतीमैं देखूं […]

प्रलय होगा महाभयंकर

प्रलय

25 दिसम्बर, 2020 अंशुमान सिंह ठाकुर 0

प्रलय सूक्ति जब भय में व्याप्त होगा संसारऔर नहीं होगा उद्धारजब रचनाएँ देवताओं की मिटेंगीऔर चिताएँ मनुष्यों की उठेंगी तब प्रलय होगा महाभयंकरकांपेगा हर पत्थर-पत्थर,होगा […]

स्वर्ग नरक

25 दिसम्बर, 2020 वीणा मंडलोई 1

सही गलत के शोर में मन जो लिया उलझाय ,कैसे हरि को पाएगा , गुरू बिन कौन बताय ।। स्वरग नरक तो यहीं धरे,, क्यूँ […]

एक और सावित्री

एक और सावित्री

25 दिसम्बर, 2020 प्रभा शुक्ला 0

रश्मि का छोटा सा परिवार,सास,ससुर, एक बारह साल का बेटा,पति रोहन और वह खुद। कुल मिलाकर पांच जने। मध्यम परिवार से आई थी, कोई बड़े […]

अकेला-बचपन

अकेला बचपन

25 दिसम्बर, 2020 प्रभा शुक्ला 0

उसे तो शाम का इंतजार था कि कब शाम हो और वह भी बाहर घूमनें जाये अपने दादाजी के साथ। दिन भर वह दादी के […]

क्योंकि गीता का सार

क्योंकि

25 दिसम्बर, 2020 विनीता बर्वे 0

कविता: क्योंकि गीता का सार ही है जीवन का आधार क्योंकि ;गीता का सार ही है जीवन का आधार… पूर्ण भक्तवत्सल है वो ,जिसने सुनी […]