महिलाओं के सशक्तिकरण में सरकार एवं समाज की भूमिका

महिला सशक्तिकरण में सरकार एवं समाज की भूमिका

‌आज महिलाओं ने हर क्षैत्र में सफलता हासिल की हैं और साबित कर दिखाया हैं कि महिलाओं को मौका मिलें तो वे सबकुछ कर सकती […]

राइट नम्बर

15 मार्च, 2021 संगीता सिंह 0

सुहासिनी को जब से पता चला है कि उसे साहित्य जगत का सर्वोच्च सम्मान मिलने वाला है । तब से ही वह खुशी के मारे फूली न समा रही थी आखिर दोगुनी खुशी जो मिली है एक तो उसका नाम, दूसरा उसके ‘राइट नंबर’ का नाम भी था उस सूची में था।

परिणय बंधन

परिणय बंधन

13 मार्च, 2021 डॉ. भावना बर्वे 6

रम्या ने अपने चेहरे को मास्क एवं स्कार्फ से ढक लिया था। रेलवे प्लेटफार्म पर बैठे हुए उसे लगभग दो घंटे हो चुके थे। उसकी […]

No Image

फर्ज़

दोपहर 2 बजे थे, शीला जल्दी जल्दी टिफ़िन मे खाना रखती जा रही थी |चार साल की बेटी परी हर रोज़ माँ को इसी समय […]

साक्षात्कार

साक्षात्कार

13 मार्च, 2021 डॉ. आशा शरण 0

मैंने प्रोफेसर बनने का सपना साकार करने के लिए सारे मापदंड तय कर लिये थे। मेरठ शहर के एक बडे कॉलेज के लिए आवदेन भी […]

होली के व्यंजन

13 मार्च, 2021 सीमा गीते 1

होली में गुलाल हो,रंगों की बहार हो,गुझिया की मिठास हो,बिना पानी का त्योहार हो, सबके दिल में एक बात हो, प्यार से ये त्योहार हो। […]

बांसुरी वाला

बांसुरी की धुन

13 मार्च, 2021 सुषमा बर्वे 0

बांसुरी बेचने वाला बांसुरी बजाता हुआ सड़क पर चला जा रहा था। उसकी बांसुरी में इतनी अच्छी धुन निकल रही थी। मानो हमारा मन ही […]

क्या नारी, शक्ति का रूप है?

12 मार्च, 2021 डॉ. भावना बर्वे 1

नर और नारी को शिव-शक्ति का रूप माना जाता है, जिसमें नर तो शिव है पर…… नारी? क्या नारी शक्ति का रूप है? उसे आगे बढ़कर एक ऐसे समाज का निर्माण करना है, जिसमें नर नारी एक दूसरे का सम्मान करें।

मैं हिन्दी हूँ

मैं हिन्दी हूँ

12 मार्च, 2021 डॉ. आशा शरण 2

संस्कृति की संवाहक बन रहती मैं हिन्दी हूँ,भारत माँ के ललाट में शोभित बिंदी हूँ। हर भाषा मुझसे शोभित है,पर मेरा मन क्यों आहत है। […]

कब तक रुलाती रहेगी सड़क

कब मिलेगा इंसाफकब तक रुलाती रहेंगी सड़कसड़क सुरक्षा के लिए,बनाई गई एक तस्वीर।जो देखी नहीं गई,कहीं ओर ,जहाँ नजर डालो।बस एक खौफ, कुचलती गाड़ियां, रौंदते […]

फितरत

इक मुलाक़ात में यों ऐतबार ना कीजिए,रब्त यों न बनते चंद पलों में ,ज़रा ठहरिये चाहत रखिये साथ की, थोड़ा सोचियेइमदाद की मोहताज़ नहीं ज़िंदगी […]

पहला जन्मदिन

12 मार्च, 2021 जागृति डोंगरे 0

नीतू सुबह उठी तो बहुत खुश थी।आज ससुराल में उसका पहला जन्मदिन था। उसने भगवान के हाथ जोड़कर अपने सास-ससुर के चरण-वंदन किये और अखंड […]

जीवन ( हाइकु )

12 मार्च, 2021 सुभाष शर्मा 2

‘हाइकु’ लेखन की एक जापानी विधा है। जो तीन पंक्तियों की होती है, इसमें पहली पंक्ति में पाँच अक्षर ,दूसरी पंक्ति में सात अक्षर एवं […]

महाकाल

12 मार्च, 2021 वाणी गुप्ता 0

ॐ, शिव, शम्भू, महाकाल…. ज्योर्तिलिंग में जो करते वाश,गौरा भी है… उनके साथ। शक्ति है जिनका आधार,हर पल करते दुष्टों का संगहार। हिमालय है… उनका […]

रंग दो नन्द लाल

12 मार्च, 2021 वाणी गुप्ता 0

मुझे कुछ ऐसे रंग दो नंद के लाल,तुम्हरे गले में जैसे बैजन्ती की माल। तुझ संग जोडू ऐसे अपना नाम,जैसे हो तुम राधा के श्याम। […]

अलबेला फागुन

11 मार्च, 2021 किरन केशरे 3

होली रंग बिरंगे तन मन का मन को उल्लसित करता हुआ त्यौहार ,सब ओर फ़ागुन का मद भरा रसीला वातावरण हवा में अलग ही खुनकी […]

शर्त

“नमस्कार भाभीजी बेटे के लिए एक बहुत अच्छा रिश्ता आया है, आप सुनेंगी तो गदगद होजाएगी।ऐसा रिश्ता किस्मत वालों को मिलता है | आपकी तो […]

जल की रासायनिक क्रिया

एक बार हाईड्रोजन, बोली ऑक्सीजन से,मैं तो स्वयं जलती हूँ, तू सबको क्यों जलाता है।तुझको क्या मिल जाता है |ऑक्सीजन बोला, हाईड्रोजन से,तू मुझसे, दूर […]

वसंत उत्सव

शब्दों की पंखुड़ी, चंदन महका घर आंगनबौराये आम, टेसू फूले,मचली धरती, लहराई फसल,महक रही पुरवाई, बरखा बहार आई……अठखेली करे धूम मचाये,अधखिली धूप, लुक छिप जाये,अमृत […]

बैंक का फोन

10 मार्च, 2021 सुधा केशरे 0

एक दिन हमारी श्रीमतीजी का चेहरा था तमतमाया,कहने लगी सुनिये जी, क्या जो अब तक है आटा खाया?क्या वह इन बैंक वालों से हमने पाया।मैंने […]

प्यारे बचपन

10 मार्च, 2021 सुधा केशरे 0

कल रात फिर से वो मेरे सपने में आया ,आया तो कई बार ,पर कल उसने मुझे बहुत तड़पाया। जानती हूँ, तुम्हें पाना मेरे लिये […]

मन की बगिया

10 मार्च, 2021 अनिता शुक्ला 0

मन की बगिया मेंफूल खिले मुरझा गएआँसुओं से सींचावो बह ही गएबिखरना था जब यूँतो खिले क्यों थेखिलकर यूँ बिखर गएखिले मन को तोड़ गएहुनर […]

श्रृंगार

10 मार्च, 2021 सुषमा शर्मा 0

विषय -श्रृंगार मन हरण घनाक्षरी कर चली है श्रृंगार,एक अलबेली नार,नैन में अंजन सार,ये तो मतवाली है। माथे बिंदिंया है लाल,सुर्ख हैं गुलाबी गाल,दंत -पंक्ति […]

असली मोल

10 मार्च, 2021 सुषमा शर्मा 1

कावेरी ने अपने सिर पर भारी सा टोकना उठाया, जिसमें मट्टी के कुल्हड़,सकोरे दीपक और छोटी सुराही आदि थे…लेकर निकल चल पड़ीं थी अपनी ग्राहकी […]

मास्क

अभी १० माह पूर्व शर्मा जी रिटायर हुए| खुश थे, अब हाय-तौबा की जिंदगी से छुटकारा मिला है| निश्चिंत होकर जीवन का आनंद लेंगे, दोस्तों […]

बड़ी फजर

मंदिर म जाओढाैल बजाओ नगाड़ा बजाओ**चाहे तो शंख ऩ$ घडीयालबजाओआना चार आना काेपरसाद चड़ावाेराम राम कराेन$ खाैबज मुरादन$ मांगाेभगवान हमाराे फलाणाे कामहुई जाय?हमाराे अमकाे काम […]

विडंबना

8 मार्च, 2021 जागृति डोंगरे 0

अक्सर डूबती हैमझधार में कश्तियाँहमने तो किनारों परडूबते देखा है। आँधियों में भीटिमटिमाते हैं कुछ दियेकुछ को हवा के हल्केझोंके से बुझते देखा है। खंजरों […]

मुरली की धुन : सायली छंद

सुनकर मुरलीकी धुन कान्हाको ढूंढेवृंदावन ले गुलाल सखासंग खेले होलीकान्हा राधासंग भर पिचकारी सखी दौड़ी आई बरसानियासे गोपीयोसंग माखन मिश्री खाए कान्हा झूमे नाचेसखा गोपियोंसंग

किताब

8 मार्च, 2021 पूजा करे 0

हर पन्ने में छुपा कर रखती है राज ,सिलसिलेवार पढ़ने पर खुलते नजर आते हैं। उसकी वो सौंधी सौंधी महक ,हृदय को प्रफुल्लित कर जाती […]

सवाल

8 मार्च, 2021 अनिता शुक्ला 0

अन्तर्द्वन्द में उठे सवाल हैंहिलौरे ऐसे ले रहे हैंसवालों से घिरा मन हैजबाव कहीं मिलते नहींसवाल जो अनछुए सेगहरी कश्ती में डूबे सेजबाव ऐसे मिलेजो […]

पूर्वजों का ऋण

8 मार्च, 2021 सुषमा चौरे 0

आशा अपनी दोनो बेटियों के खेल रही थी। तभी शर्मा आंटी आई और तिरछी मुस्कान के साथ बोली “खूब मस्ती हो रही है बेटियों के […]

ममत्व

अरे! सीमा आप। बहुत दिनों बाद आना हुआ। क्या बात है आज आपके चेहरे पर चमक दिखाई दे रही है। सीमा ने मेरे हाथ में […]

आयो फागुन आयो

आयो फागुन आयो,माघ पूनम ,डांडो होली को,गाढ़ो रे गाढ़ो…. वासंती पुरवइया केसंग,फागुन की गर्माहट,शीतल जल को पीबणू,भायो रे भायो… पूनम की होली का फेरा,हार -कंकण […]

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

महिलाओं के अधिकार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एवं महिलाओं के सम्मान में किसी विशिष्ट थीम को लेकर प्रतिवर्ष 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला […]

नर्मदा

नर्मदा नदी ( हाइकु )

3 मार्च, 2021 सुभाष शर्मा 0

‘हाइकु’ लेखन की एक जापानी विधा है। जो तीन पंक्तियों की होती है, इसमें पहली पंक्ति में पाँच अक्षर,दूसरी पंक्ति में सात अक्षर एवं तीसरी […]

राम राज ( हाइकु )

3 मार्च, 2021 सुभाष शर्मा 0

‘हाइकु’ लेखन की एक जापानी विधा है। जो तीन पंक्तियों की होती है, इसमें पहली पंक्ति में पाँच अक्षर,दूसरी पंक्ति में सात अक्षर एवं तीसरी […]

विभूति

विभूति

घर पर कंप्यूटर के सामने बैठा विभूति ऑनलाइन फॉर्म भर रहा था तभी जोर से बोला… “मम्मी देखो फिर वही प्रॉब्लम आजकल सब ऑनलाइन हो […]

सद्गुरु प्रीति : सायली विधा

3 मार्च, 2021 मेधा जोशी 0

प्रेममगन मनमंत्र मनन लगननिराकार निरंजनजगतारन भक्तिपरमानंद प्राप्तिसद्गुरु संग प्रीतिमोहे लागीअनुरागी सद्ज्ञाननित्य आवाहनमुक्त करो भवबंधनसद्गुरु शरणनवसृजन अनुग्रहअपार अनंतअखिल अखण्ड सुरेश्वरसदाशिव नटेश्वरजगदीश्वर वरवदनासत्य सनातनशुभ गुण सदनाशुद्ध चेतनाअन्तर्गहना