बचपन

सुनहरा बचपन

शीर्षक: सुनहरा बचपन आज खोली जीवन की किताबहर पन्ने पर कुछ इस तरह था,जीवन के खट्टे-मीठे पलों का हिसाब,कभी कड़ी धूप मिली जीवन में,तो कभी […]

उड़ान

उड़ान

लघु कथा: उड़ान जब जन्म हुआ उसका तो घर के सदस्यों ने नाक भौंह सिकोड़ी , क्योंकि वह एक लड़की थी। केवल उसकी माँ थीं, […]

कन्या भोजन

कन्या पूजन

नन्ही सी वैष्णवी आज अत्यंत खुश थी। नवरात्रि का अंतिम दिन , उसे कन्या भोजन करने जो जाना था। सुबह ही मम्मी ने नहला दिया, […]

सुंदर

कविता

कोमल भावनाओं की सुंदरअभिव्यक्ति है ……. कविताकवि के ह्रदय की सुंदरपरिकल्पना है …… कविताभावों को शब्दों के धागे मेंपिरोयी माला है …… कवितानव रसों से […]

पहला जन्मदिन

12 मार्च, 2021 जागृति डोंगरे 0

नीतू सुबह उठी तो बहुत खुश थी।आज ससुराल में उसका पहला जन्मदिन था। उसने भगवान के हाथ जोड़कर अपने सास-ससुर के चरण-वंदन किये और अखंड […]

विडंबना

8 मार्च, 2021 जागृति डोंगरे 0

अक्सर डूबती हैमझधार में कश्तियाँहमने तो किनारों परडूबते देखा है। आँधियों में भीटिमटिमाते हैं कुछ दियेकुछ को हवा के हल्केझोंके से बुझते देखा है। खंजरों […]

क्षितिज तक

6 जनवरी, 2021 जागृति डोंगरे 2

नन्ही सी वह बिन मां की बच्ची जब दूसरे बच्चों को अपनी, अपनी मां के साथ लाड़-प्यार और हट करते देखती तो, सोचती कि मेरी […]

बेटियां

6 जनवरी, 2021 जागृति डोंगरे 2

ईश्वर प्रदत्त अनुपम उपहारहै बेटियां।माता-पिता के दिल का अरमानहै बेटियां।घर-आंगन की रौनक बढ़ातीहै बेटियां।मां का साया, पिता का दुलारहै बेटियां।हरसिंगार सी घर-आंगन महकातीहै बेटियां।दर्द सहती […]

आईना

6 जनवरी, 2021 जागृति डोंगरे 1

आज सोचा उससे कुछ बातेंकर लूं खासमैं गई उसके पासउस पर जमीं धूल की गर्तकरने लगी साफपरत हटते ही वह मुस्कायाकितने दशक बाद मैं याद […]

ganges

निर्झरणी

4 जनवरी, 2021 जागृति डोंगरे 1

उतुंग पर्वत शिखरों से हो प्रस्फुटितउज्जवल जल धार बनकर धरा पर आती हैबूंद,बूंद कर संग्रहित निर्झरणी वो बन जाती है । कहीं उन्मुक्त नव यौवना […]