काश तुम समझ पाते

काश तुम समझ पाते

काश तुम समझ पातेमेरे मन में छिपी सवेंदनाओं को,आँसुओं के उमड़ते सैलाब कोजो तुम्हारी याद में निकले। काश तुम देख पातेमेरे सुनहले ख़्वाबों का संसार,जो […]

मुझे मेरा गाँव याद आता है

मुझे मेरा वो गाँव याद आता है

बरगद की छाँव मेंबैठ के भुट्टे खाना,संग दोस्तों के वहाँ घंटों भर बतियाना,नहीं भुलाये भूलतावो गुजरा जमाना , माँ के डर से छुपके जाना, ठंड में […]