प्रार्थना

रक्षा-प्रार्थना

क्या अर्वाचीन और क्या प्राचीनक्या उत्तर और क्या दक्षिणक्या शासक और क्या आधीनक्या नगरीय और क्या ग्रामीणहर क्षण होता प्रकाश क्षीण॥ हाहाकार बढ़ता हर दिनदेव […]

mandala

आत्म मंथन

अहं स्वयं का टूटने दोअंतर्रुदन फूटने दोआप ही तब होगा रचितमहाकाव्य उद्घाटित। जीवन की सारी आशाएंटूटे तो टूटने दोऔर मन के कोध काश्वास घुटे तो […]

प्रलय होगा महाभयंकर

प्रलय

25 दिसम्बर, 2020 अंशुमान सिंह ठाकुर 0

प्रलय सूक्ति जब भय में व्याप्त होगा संसारऔर नहीं होगा उद्धारजब रचनाएँ देवताओं की मिटेंगीऔर चिताएँ मनुष्यों की उठेंगी तब प्रलय होगा महाभयंकरकांपेगा हर पत्थर-पत्थर,होगा […]