कण कण की कीमत

अन्न ब्रम्ह

2 अगस्त, 2021 विभा भटोरे 0

मुनिया हैरान है ! मॉं और नानी गेहूँ छान रही हैं, साफ करने के बाद पिसवाएंगे। उन्होंने थैला भर दिया, नानाजी बिखरे कुछ दाने बीन […]

प्रीत हाइकु

प्रीत – हाइकु

15 जुलाई, 2021 विभा भटोरे 0

विषय -प्रीत हाइकु हाइकु जापानी पद्धति है यह 3 लाइन की कविता होती है। इसका मुख्य गुण ” गागर में सागर भरना ” होता है […]

सूक्ष्म लघुकथा भाग एक

सूक्ष्म लघु कथाएँ

1 जून, 2021 विभा भटोरे 1

शीर्षक: सूक्ष्म लघुकथा भाग एक १. सबक तीन तारीख को महरी का हिसाब करती हुई मालकिन बोली- “रामरती तूने पिछले महीने दो दिन बिना बताए […]

आनंद

माघ

9 फ़रवरी, 2021 विभा भटोरे 0

माघ माह अलबेला है,आज तू ना अकेला हैजा रहे है आमजन,तू भी चल आनन्द की बेला है।स्नान का पर्व भी होता है!!!देख संतों का रेला […]

लांडी को जीव हांडी म

8 फ़रवरी, 2021 विभा भटोरे 1

मैंने सुना कुछ बड़बड़ा रही थी सासू माँ,जीव हांडी म रह्यज।पूरा नहीं सुन पाई।डरते हुए मैंने पूछा —क्या हुआ मम्मीजी?आपने कुछ कहा?हाँ!!!लांडी को जीव हांडी […]

बहादुर लाल वो

6 जनवरी, 2021 विभा भटोरे 1

11 जनवरी लाल बहादुर शास्त्री जी की पुण्यतिथि पर शत शत नमन। विधा -मनहरण घनाक्षरी लाडला बेटा था नन्हेहटा पिता का साया तो,तैरकर शाला जावे,बहादुर […]

प्यार की खुशबू

3 जनवरी, 2021 विभा भटोरे 0

छलका है मन उल्लसित,प्रफुल्लित जीवन है बहता,बढ़ते रहें कल कल नदी से,देना सीखें हम नदी से-आओ बिखेरें प्यार की खुशबू। छोड़ के तेरा और मेरा,क्षणिक […]